Monday, May 16, 2022

Cryptocurrency क्या हैं? भारत में इसका भविष्य, कीमत और कैसे काम करती है?

जैसे जैसे समय बदल रहा है लोगों के जुबान पर एक नाम अक्सर सुनने को मिलता है जिसका नाम है क्रिप्टोकरंसी (Cryptocurrency). अगर हम भारत के नजरिए से बात करें तो भारत में करोड़ों ऐसे लोग हैं, जिन्होंने कभी क्रिप्टो करेंसी के बारे में सुना ही नहीं है. अधिकतर लोग इसके बारे में नहीं जानते (Cryptocurrency kya hai in Hindi).

लेकिन अगर हम इसका दूसरा पक्ष देखें तो Cryptocurrency में निवेश करने के मामले में भारत सबसे आगे हैं. अगर हम Crypto-investors की बात करें तो एक डाटा के अनुसार भारत में 10 करोड़ Crypto-investors है. जिन्होंने Cryptocurrency में निवेश कर रखा है.

वहीं इस मामले में अमेरिका दूसरे नंबर पर है. जहां पर करीबन ढाई करोड लोगों ने Crypto में invest कर रखा है. फिर भी करोड़ों लोग हमारे देश में इससे अनजान है. आज हम इस आर्टिकल में जानेंगे कि क्रिप्टो करेंसी क्या है (What is cryptocurrency in Hindi?) भारत में इसका क्या भविष्य होने वाला है? इसकी कितनी कीमत है? और क्यों अभी तक भारत में Cryptocurrency को मान्यता प्राप्त नहीं हुई?

सरकार ने क्रिप्टोकरंसी को लेकर अपना रुख कैसे साफ कर दिया है, और इसके ऊपर क्या tax लगेगा या नहीं? और क्या इस साल आरबीआई अपनी खुद की क्रिप्टोकरंसी जारी करेगा? यह सभी बातें नीचे दी गई है.

Cryptocurrency क्या हैं?

Cryptocurrency एक digital currency है. जिसे हम virtual currency या आभासी मुद्रा भी कह सकते हैं. Cryptocurrency को हाथ से छुआ नहीं जा सकता और ना ही आप क्रिप्टोकरंसी को किसी बैंक या अन्य वित्तीय संस्थान में रख सकते हैं. Cryptocurrency मैं अगर आपको लेनदेन करना है तो उसके लिए आपको digital signature की आवश्यकता होगी. उसी के बाद आपका verification (Authentication) होता है.

Cryptocurrency कैसे काम करती हैं? 

Cryptocurrency Blockchain technology पर आधारित होती है जो कि Cryptography प्रक्रिया द्वारा सुरक्षित होती है. इस करेंसी को Decentralized system द्वारा मैनेज किया जाता है, और इसमें किसी भी प्रकार की सेंध लगाने (धोखाधड़ी करना) की संभावनाएं बहुत कम है. क्रिप्टो-करेंसी Peer to Peer system पर काम करती है और बहुत सारे Super-computers का use करके इसे सिर्फ digital wallet में ही सुरक्षित रखा जा सकता है. 

Cryptocurrency Meaning in Hindi?

अगर हम Cryptocurrency के Meaning की बात करें तो यह मुख्यतः दो शब्दों के मेल से बना हुआ है. इसमें सबसे पहले Crypto जो कि लेटिन भाषा से आया हुआ एक शब्द है और Cryptography से बना हुआ है. जिसका अर्थ होता है छुपी हुई या छुपा हुआ. वहीं दूसरी तरफ Currency इसका हिंदी में अर्थ होता है मुद्रा यह भी लेटिन भाषा का एक शब्द है, और Currentia से आया हुआ है. 

Crypto + Currency = Cryptocurrency

- Advertisement -

तो इस प्रकार से अगर हम दोनों शब्दों के अर्थ को जोड़ दे तो बनता है छुपी हुई मुद्रा या यानी ऐसी मुद्रा जो कि छुपी हुई है. जिसे हम देख नहीं सकते, छू नहीं सकते लेकिन उसका इस्तेमाल कर सकते हैं. इसीलिए इसे Virtual Currency या कहें की आभासी मुद्रा भी कहते हैं.

Cryptocurrency के उदाहरण या कितने प्रकार की होती है?

Cryptocurrency के वैसे तो बहुत सारे प्रकार हैं. लेकिन इसके ऐसे बहुत ही कम प्रकार है जोकि बहुत अच्छी तरह से काम कर रहे होते है.

प्रशिद्ध Cryptocurrency Examples in Hindi

  1. Bitcoin
  2. Ethereum (ETH)
  3. Cardano (ADA)
  4. Litecoin (LTC)
  5. Stellar (XLM)
  6. Polkadot (DOT)
  7. Binance Coin (BNB)
  8. Tether (USDT)
  9. Dogecoin (DOGE)
  10. Monero (XMR)
  11. NEM
  12. Dash
  13. ZCash
  14. Ethereum Classic
  15. Faircoin (FAIR)

तो इस तरह से Cryptocurrency के बहुत सारे प्रकार या आप कहें की उदाहरण है. Bitcoin cryptocurrency का सबसे जाना पहचाना उदाहरण है. Bitcoin सबसे पहली cryptocurrency भी है. चलिए उसी के बारे में कुछ महत्वपूर्ण बातें.

Bitcoin Cryptocurrency क्या है?

Bitcoin भी cryptocurrency का एक प्रकार या उदाहरण है. Bitcoin दुनिया की सबसे पहली cryptocurrency है जो कि 2008 में अस्तित्व में आई थी. जिसे एक अनजान व्यक्ति या कहीं की अनजान user जिसका नाम था Satoshi Nakamoto द्वारा बनाई गई थी. यह व्यक्ति कौन था या यह user था भी या नहीं, इसका आज तक कोई पता नहीं चला है.

Bitcoin एक Digital Currency है जोकि Blockchain Technology पर काम करता है. Bitcoin इसके अविष्कार के साथ यानी अगले साल ही “2009” में चलन में आ गई थी. तब से आज तक Bitcoin Cryptocurrency के तौर पर बाजार में चल रहा है.

Bitcoin Cryptocurrency की भारत में कीमत कितनी है?

1 bitcoin कि अगर भारतीय रुपए में साल 2021 में कीमत ₹42,80,129 रुपए है. यह बिल्कुल भी स्थिर नहीं है और प्रतिदिन घटती बढ़ती रहती है.

Cryptocurrency को कैसे इस्तेमाल किया जाता है?

जैसा कि आप अभी तक पढ़ ही चुके हैं क्रिप्टोकरेंसी एक आभासी मुद्रा है जिसे हाथ से छुआ नहीं जा सकता. क्योंकि यह प्रत्यक्ष रूप से हमारे पास नहीं होती. तो इसलिए आप सिर्फ और सिर्फ online यानी इंटरनेट के माध्यम से ही क्रिप्टोकरेंसी का इस्तेमाल कर सकते हैं. क्रिप्टोकरेंसी के इस्तेमाल द्वारा आप बहुत सारी चीजें खरीद खरीद सकते हैं बशर्ते वह प्लेटफार्म क्रिप्टोकरेंसी द्वारा Payment को मंजूर करता हो.

  1. क्रिप्टोकरेंसी की अगर हम मोटे मोटे बात करें तो इसमें आप Invest कर सकते हैं, Trading कर सकते हैं, आप हवाई जहाज की टिकट खरीद सकते हैं, आप कोई महंगी कार खरीद सकते हैं, आदि बहुत सी चीज है.
  2. कुछ एक Travel Agent जैसे कि Destinia और CheapAir बिटकॉइन के द्वारा payment मंजूर करते हैं, इनसे जब भी आप कोई हवाई जहाज की टिकट बुक करवाते हैं या अन्य बहुत सी चीजें.
  3. इसके साथ साथ अगर आपके पास क्रिप्टोकरंसी है तो दुनिया में ऐसी बहुत सी जगह है जहां पर Bitcoin ATM लगाए गए हैं और आप अपनी क्रिप्टोकरंसी को वहां की स्थानीय मुद्रा में बदल सकते हैं, और ATM Machine से निकाल सकते हैं.
  4. अगर कार खरीदने की बात करें तो Tesla Company के CEO ने कहा था कि Tesla जल्दी ही क्रिप्टोकरंसी को उनकी कार खरीदने के लिए मंजूरी दे सकती है.
  5. इसके साथ साथ अगर कुछ इंटरनेशनल न्यूज़ चैनल की मानें तो जुलाई 2021 में 101 कैरेट का हीरा (Diamond) जिसकी कीमत $12.3 Million USD आँकी गई उसे भी Cryptocurrency का इस्तेमाल करके ही खरीदा गया.

Cryptocurrency के फ़ायदे क्या क्या हैं?

Digital currency यानी Cryptocurrency के आज तक के फायदों की अगर बात करें तो वह हैं.

  1. Cryptocurrency में fraud आदि की संभावनाएं बहुत कम है. इसलिए हम कह सकते हैं कि Cryptocurrency बहुत ही ज्यादा secure payment के रूप में बाजार में उपलब्ध एक आभासी मुद्रा है.
  2. Cryptocurrency की बात की जाए तो इसमें किसी भी प्रकार की सरकारी और अन्य बैंकिंग गतिविधियों और दस्तावेज प्रमाणिकता की आवश्यकता नहीं होती. यह तो कंप्यूटर में store files की तरह होती हैं जो कि ऑनलाइन यानी Internet servers पर store हैं. जिन्हें इंटरनेट का इस्तेमाल करके ही access किया जा सकता है. इसके लिए आपके Digital-Signature भी होने चाहिए.
  3. आप संपत्ति के रूप में Cryptocurrency को भविष्य की investment के रूप में एक अच्छा स्रोत समझ सकते हैं. क्योंकि इसमें invest करने को, सोने चांदी आदि में invest करने से भी कई गुना ज्यादा फायदेमंद समझा जा सकता है. क्योंकि इसकी कीमत दूसरी चीजों के मुकाबले बहुत ज्यादा होती है, और यह अनियंत्रित तरीके से कम या ज्यादा भी हो सकती है.
  4. Cryptocurrency पर किसी भी बैंक का कोई नियंत्रण नहीं होता.
  5. इसे खरीदना बेचना बहुत आसान है अगर आपको इसकी थोड़ी बहुत भी समझ है. क्रिप्टोकरंसी के लिए भारत में ही नहीं दुनिया भर में बहुत सारे digital-wallets अलग-अलग प्लेटफार्म, अलग-अलग कंपनियों द्वारा उपलब्ध कराए जाते हैं.
  6. Cryptocurrency पर किसी भी सरकार, केंद्र सरकार, और राज्य सरकार का कोई भी नियंत्रण नहीं होता.

Cryptocurrency के नुकसान क्या क्या हैं?

क्रिप्टोकरंसी में जितने ज्यादा फायदे हैं, इसके नुकसान उतने ही ज्यादा और बिल्कुल समझ से परे है. आइए चलिए समझतें हैं.

  1. Cryptocurrency का सबसे पहला और सबसे ज़्यादा नुकसान पहुंचाने वाला point है इसके ऊपर किसी भी सरकारी और गैर सरकारी संस्थाओं का नियंत्रण ना होना. जिसकी वजह से क्रिप्टोकरंसी की कीमतें मनचाहे तरीके से घटती और बढ़ती रहती हैं. इसकी कीमतें कब आसमान छूने लगेंगी और कब आसमान की बुलंदियों से धरती पर आ गिरेंगी इसका कुछ पता नहीं. यह अपने आप में किसी भी मुद्रा में invest करने का सबसे बड़ा risk है समस्या है.
  2. Cryptocurrency वैसे तो बहुत ही ज्यादा secure digital currency के रूप में बाजार में है. लेकिन ऐसा नहीं है कि इसे चुराया नहीं जा सकता. Ethereum के साथ तो ऐसा हो भी चुका है जहां पर Ethereum के साथ $600 Million USD (44,99,65,50,000 Indian Rupees) और अन्य cryptocurrencies एक साथ चुरा लिए गए थे. यह अपने आप में इतिहास में अबतक की गई सबसे बड़ी चोरियों में से एक है.
  3. माना इसकी खरीद और बेच आसान है लेकिन अगर इसमें एक बार transaction complete हो जाती है तो उसे आप उल्टा नहीं यानी Reverse नहीं कर सकते. क्योंकि ऐसा करने के लिए वहां पर कोई भी विकल्प नहीं दिए जाते.
  4. Cryptocurrency use करते वक्त अगर आपके digital wallet जिसमें आप crypto के लेनदेन की जानकारी रखते हैं, अगर उसकी Identity (ID) गुम हो जाती है तो वह हमेशा के लिए ही गुम हो जाएगी. आप उसे कभी भी दोबारा प्राप्त नहीं कर पाएंगे. ऐसी स्थिति में आपके wallet में उस ID में जितनी भी digital currency है वह भी हमेशा के लिए गुम हो जाएगी, आप उसका कुछ नहीं कर पाएंगे.
  5. Cryptocurrency को illegal तरीके से इस्तेमाल के खतरे के रूप में भी देखा जाता है. क्रिप्टोकरंसी को Dark Web जैसे इंटरनेट पर अलग-अलग प्लेटफार्म पर मानव तस्करी से लेकर हथियारों की खरीद बेच जैसे गैरकानूनी कार्यो में इस्तेमाल करने का खतरा हमेशा बना रहता है. जब तक कोई आधिकारिक जांच नहीं होती, इन सब खरीद-बेच और अन्य अपराधिक गतिविधियों का पता लगाना बहुत ही ज्यादा कठिन होता है.
  6. Digital Currency (Cryptocurrency) फिजिकल फॉर्म (Physical form) में उपस्थित नहीं है, यानी आप इसे किसी को दिखा नहीं सकते. यह ना तो किसी सिक्के के रूप में है और ना ही कहीं पर भी किसी भी नोट के रूप में किसी व्यक्ति विशेष के पास है. यह सिर्फ और सिर्फ इंटरनेट पर मौजूद code files होती हैं.

Cryptocurrency FAQ – महत्वपूर्ण सवाल और उनके ज़वाब 

यहां तक पढ़ने के बाद आप लोगों के मन में बहुत सारे सवाल उठ रहे होंगे, उन बहुत से सवालों का नीचे हमने उत्तर देने की कोशिश की है. एक बार ज़रूर पढ़े.

किस देश ने Cryptocurrency को आधिकारिक मान्यता प्रदान की है?

साल 2021 में 7 सितंबर के दिन El Salvador ने बिटकॉइन को Official लीगल टेंडर के रूप में अपना लिया है, या कहें कि El Salvador ने अपने देश में बिटकॉइन क्रिप्टोकरंसी को आधिकारिक तौर पर मान्य घोषित कर दिया है.

क्या Cryptocurrency भारत में मान्य हैं या Ban हैं?

भारत सरकार ने Cryptocurrency को न तो अभी तक मान्यता दी है और ना ही इसे Ban किया है. यानी कोई भी भारतीय Cryptocurrency में invest कर सकता है, खरीद सकता है, बेच सकता है. लेकिन भारत सरकार या कोई भी भारतीय बैंक उस व्यक्ति द्वारा Cryptocurrency की लेनदेन पर कोई भी अधिकार या निगरानी या कोई कानून लागू नहीं करता हैं.

क्या भारत में Cryptocurrency के लेनदेन पर कोई कानूनी कार्रवाई हो सकती है?

माना कि भारत सरकार का Cryptocurrency के लेनदेन आदि पर कोई नियंत्रण नहीं है. लेकिन भारत में रहते हुए अगर आप Cryptocurrency के लेनदेन से संबंधित कोई ऐसा कार्य करते हैं जो कि गैर कानूनी है. तो पकड़े जाने के बाद आप पर भारतीय न्याय व्यवस्था के अनुसार कार्रवाई होगी. यहां पर आपके द्वारा Cryptocurrency का इस्तेमाल करने पर नहीं बल्कि उस गलत काम के लिए भारतीय संविधान के अनुरूप जो न्याय व्यवस्था है उसके लिए कार्रवाई होगी.

Cryptocurrency का भारत में क्या भविष्य है?

सरकार ने साल 2022 और 2023 के बजट जो कि 1 फरवरी 2022 को संसद में भारत की वर्तमान वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा पेश किया गया था. उसमें क्रिप्टोकरंसी को लेकर बहुत सी बातों को बिल्कुल साफ कर दिया गया है.

इसमें कहा गया है कि क्रिप्टोकरंसी का कोई भी लेन-देन करता है, और इससे उसे फायदा या मुनाफ़ा होता है तो उस पर भी 30% tax लगाया जाएगा. इसके साथ साथ अगर आपको कोई क्रिप्टो करेंसी या डिजिटल करेंसी में किसी भी तरह का उपहार देता है, तो उस पर भी बात सरकार 30% tax लगाएगी.

इसके साथ-साथ भारत सरकार ने यह साफ किया कि इसी साल यानी साल 2022 में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया अपनी खुद की डिजिटल करेंसी मार्केट में लांच कर सकता है, और सरकार रिज़र्व बैंक द्वारा लांच की गई digital करेंसी को ही स्थाई डिजिटल करेंसी के तौर पर मान्यता देगी. किसी भी क्रिप्टोकरंसी या डिजिटल करेंसी को अभी सरकार ने किसी भी तरह की मान्यता नहीं दी है.